Virat Kohli credits self-belief for turning things around in South Africa

0
6


कोलकाता: भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली ने कहा कि खिलाड़ियों की सकारात्मक सोच और अपनी क्षमता पर भरोसा होने के चलते ही टीम दक्षिण अफ्रीका में तीसरा टेस्ट मैच जीतने में सफल हो पाई. विराट ने यहां पत्रकार बोरिया मजूमदार की किताब ‘इलेवन गॉडस एंड ए बिलियन इंडियंस’ का अनावरण करने के बाद यह बात कही. भारतीय टीम इस वर्ष जनवरी में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर तीन मैचों की टेस्ट के पहले दो मैच हार चुकी थी लेकिन तीसरा टेस्ट मैच जीतने में सफल रही थी. विराट ने कहा, “दो मैचों के बाद यह मुश्किल था. लेकिन हमारी सोच थी कि हमें किसी भी कीमत पर मैच जीतना है. दो मैच हारने के बाद किसी को हमारे ऊपर विश्वास नहीं था. लेकिन हमें खुद पर विश्वास था.”

कप्तान ने कहा, “कोच और टीम प्रबंधन को खुद पर विश्वास था. हम किसी भी चीज को लेकर चिंतित नहीं थे. इसलिए हमारा ध्यान केवल इस बात पर था कि हम जीत सकते हैं.”

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जोहानिसबर्ग में तीसरे टेस्ट में भारत ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था. भारत के इस फैसले की कई क्रिकेट विशेषज्ञों ने आलोचना की थी. 

ICC Test Ranking : दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों को हुआ फायदा, विराट अपनी जगह बरकरार

विराट ने कहा, “निश्चित रूप से यह फैसला मुश्किल था क्योंकि विकेट कुछ अलग तरह का ही खेल रही थी. लेकिन मेरा मानना था कि टेस्ट क्रिकेट में सब कुछ होता है और हमारा ध्यान अपने लक्ष्य पर था. हम कहीं भी डरे हुए नहीं थे. एक टीम के रूप में हमें चीजों को दूसरे नजरिये से भी देखना होता है. टीम का विश्वास था कि यह फैसला हमारे लिए सही है.”

भारत ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर तीसरा टेस्ट 63 रन से जीता था और 1-2 से सीरीज की समाप्ति की थी, लेकिन इसके बाद वनडे और टी-20 सीरीज जीतकर इतिहास रचा था. 

कोहली के काउंटी क्रिकेट खेलने के फैसले से डरा इंग्लैंड का यह पूर्व दिग्गज खिलाड़ी

उन्होंने कहा, “क्रिकेट में कुछ भी करने का एक ही तरीका नहीं होता है. आपके अपने भी तरीके होते हैं और अगर आप उस पर भरोसा रखते हैं तो आप उसमें सफल हो सकते हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here