Mamata Banerjee sees currency shortage as a reminder of demonetisation । नकदी की कमी से नोटबंदी के दौर की याद आ गई, देश में क्या वित्तीय आपात स्थिति है: ममता

0
3


कोलकाता: कुछ राज्यों में नकदी की कमी की खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार (17 अप्रैल) को कहा कि इसने नोटबंदी के दिनों की यादें ताजा कर दी. उन्होंने एक ट्वीट किया, ‘‘कई राज्यों में एटीएम मशीनों में पैसा नहीं होने की खबरें देखीं. बड़े नोट गायब हैं. नोटबंदी के दिनों की याद आ गई. देश में क्या वित्तीय आपात स्थिति बनी हुई है?’’ कम से कम छह राज्य मसलन गुजरात, पूर्वी महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में नकदी की कमी की खबरें हैं.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हालांकि कहा है कि चलन में पर्याप्त से ज्यादा मुद्रा है और कुछ राज्यों में जो अस्थायी कमी है उसे जल्द निपटा लिया जाएगा. उन्होंने आश्वासन दिया, ‘‘कुल मिलाकर पर्याप्त से ज्यादा मुद्रा चलन में है और यह बैंकों के पास भी उपलब्ध है. कुछ राज्यों में असाधारण तौर पर अचानक मुद्रा की मांग बढ़ने से पैदा हुई मुद्रा की अस्थायी कमी को जल्द दूर कर लिया जाएगा.

चलन में पर्याप्त मुद्रा, अस्थायी कमी से जल्द निपट लिया जाएगा : जेटली
वहीं दूसरी ओर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार (17 अप्रैल) को कहा कि ‘पर्याप्त से ज्यादा मुद्रा’ चलन में है और कुछ राज्यों में अस्थायी कमी की समस्या से ‘जल्द निपट लिया’ जाएगा. खबरें हैं कि गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, बिहार, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना जैसे कम से कम छह राज्यों में मुद्रा की कमी है. जेटली ने एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने देश में मुद्रा की स्थिति का आकलन किया है.

वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘कुल मिलाकर पर्याप्त से ज्यादा मुद्रा चलन में है और यह बैंकों के पास भी उपलब्ध है. कुछ इलाकों में असाधारण तरीके से अचानक बढ़ी मांग से मुद्रा की अस्थायी तौर पर कमी हो गई है जिसे जल्द ही निपटा लिया जाएगा.’’ वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा कि कुछ राज्यों में मुद्रा की कमी से निपटने के लिए सरकार ने एक समिति बनायी है. इस समस्या को अगले दो – तीन दिन में सुलझा लिया जाएगा.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here