CWG 2018 : Vikas Krishan first commonwealth gold, 75 kg Category of Boxing

0
3


गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया) :  भारत के विकास कृष्ण ने शानदार प्रदर्शन करते हुए शनिवार को 21वें कॉमनवेल्थ खेलों  की मुक्केबाजी स्पर्धा के 75 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम कर देश को दिन का आठवां गोल्ड मेडल दिलाया. रियो ओलम्पिक में क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करने वाले विकास ने फाइनल मुकाबले में कैमरून के दियूदोन विल्फ्रे सेयी को पांच जजों की सर्वसम्मति से 5-0 से हराया. राष्ट्रमंडल खेलों में यह विकास का पहला पदक है.

पांच जजों ने तीन राउंड समाप्त होने के बाद 30-27, 29-28, 29-28, 30-27 और 29-28 अंकों के साथ विकास के पक्ष में विकास के पक्ष में फैसला सुनाया. विकास ने पहले दौर में आस्ट्रेलिया के कैम्पबेल सोमरविले को हराया था. इसके बाद उन्होंने दूसरे दौर में जाम्बिया के बेन्नी मुजियो को हराया और फिर सेमीफाइनल में नाइजीरिया के स्टीवन डोनीले को पराजित कर फाइनल खेलने का अधिकार हासिल किया.

सेयी के खिलाफ विकास शुरूआत से ही हावी रहे और अपने जैब्स और पंचों से उन्हें हैरान कर दिया. सेयी ने भी रिंग में चपलता दिखाने की कोशिश की लेकिन वह विकास के अनुभव के आगे नतमतस्क नजर आए. विकास ने शनिवार को भारत को तीसरा स्वर्ण दिलाया. इससे पहले एमसी मैरीकोम और गौरव सोलंकी ने स्वर्ण जीता था.

CWG 2018 : सिंधु और सायना में होगी गोल्ड की जंग, धर्मसंकट में फंसे गुरू गोपीचंद

भारत के मुक्केबाज सतीश कुमार ने शनिवार को 21वें राष्ट्रमंडल खेलों को 91 प्लस किलोग्राम वर्ग में देश के लिए रजत पदक जीता है.  फाइनल में इंग्लैंड के फ्रेजर क्लार्क ने सतीश को 5-0 से हराया.  

मैरी कॉम ने दिलाया महिला बॉक्सरों का पहला गोल्ड
उम्मीदों के मुताबिक, पहले बॉक्सिंग में मैरी कॉम ने देश को गोल्ड मेडल दिलाया. गोल्ड जीतने वाली वह पहली महिला बॉक्सर हैं. मैरी कॉम ने शनिवार को गेम्स के 10वें दिन महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है. इस दिग्गज मुक्केबाज ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया. मैरी कॉम ने पहले राउंड में सब्र दिखाया और मौकों का इंतजार किया. उन्हें मौके भी मिले जिसे उन्होंन अपने पंचों से बखूबी भुनाया. मैरी कॉम अपने बाएं जैब का अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं. मैरीकॉम धीरे-धीरे आक्रामक हो रही थीं.

CWG 2018 : भारत पर बरसा ‘सोना’, मैरी कॉम के बाद गौरव और संजीव ने दिलाए गोल्ड

दूसरे राउंड में मैरी कॉम ने अपना अंदाज जारी रखा. वहीं क्रिस्टिना कोशिश तो कर रहीं थी, लेकिन उनके पंच चूक रहे थे. वहीं मैरी कॉम मुकबला आगे बढ़ने के साथ और आक्रामक हो गईं और अब जैब के साथ अपने लेफ्ट हुक का भी अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं. अब वह अपने फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल करते हुए क्रिस्टिना पर दबाव बनाए हुए थीं. तीसरे और अंतिम राउंड में क्रिस्टिना भी आक्रामक हो गई थीं और पांच बार की विश्व चैम्पियन को अच्छी टक्कर दे रही थीं, लेकिन मैरी कॉम ने अपना डिफेंस भी मजबूत रखते हुए जीत हासिल की.

गौरव सोलंकी ने जीता सोना
बॉक्सर गौरव सोलंकी ने 5 देश के लिए तीसरा गोल्ड जीत लिया.  गौरव ने पुरुषों की 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से मात देते हुए स्वर्ण पदक हासिल किया. गौरव का यह कॉमनवेल्थ गेम्स में पहला पदक है.  इससे पहले शनिवार को ही मैरी कॉम ने भारत को मुक्केबाजी में पहला स्वर्ण पदक दिलाया था. पहले राउंड में गौरव पूरी तरह से हावी रहे. उन्होंने अपने बाएं जैब से अच्छे अंक जुटाए और इरवाइन को परेशान किया.

CWG 2018 : नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो में जीता गोल्ड, यूट्यूब को गुरु बनाकर सीखा खेल

दूसरे राउंड में गौरव और ज्यादा आक्रामक हो गए और उन्होंने लगातार पंच मारते हुए इरवाइन पर दबाव बनाए रखा. इस राउंड में जैब के अलावा गौरव ने कुछ अच्छे अपरकट का इस्तेमाल भी किया. इरवाइन काउंटर तो कर रहे थे, लेकिन ज्यादा सफल नहीं हो पा रहे थे. आखिरी राउंड में गौरव ने और बेहतर प्रदर्शन किया और इरवाइन को आक्रमण नहीं करने दिया.
(इनपुट आईएएनएस)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here