हिंदी न्यूज़ – unemployed youth get buffalo grazing in noida and greater noida up

0
5


यहां भैंसों को चराने के लिए मिलती है अच्छी सैलरी

नोएडा में भैंसो के लिए चरवाहे रखे गए हैं

News18Hindi

Updated: April 11, 2018, 6:37 PM IST

ऐसा शायद ही आपने पहले कभी सुना हो कि भैंसों को चराने के लिए भी अच्छी सैलरी मिलती है. जी हां, बिहार का रहने वाला एक युवक यूपी के नोएडा में भैंस चराकर अच्छी कमाई कर रहा है. नोएडा और ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के पास झट्टा गांव के किसानों ने अपनी भैंसों को चराने के लिए बिहार के एक युवक को नौकरी पर रखा है.

भैंस चराने वाले झकस कुमार के पास अभी 50 भैंसे हैं, उसे हर महीने इन्हें चराने के एवज में गांववालों की तरफ से 25 हजार रुपये मिलते हैं. झकस की तरह बिहार और यूपी के कई लोग इसी काम में लगे हुए हैं. गांव के एक व्यक्ति ने बताया कि जो लोग चरवाहों का काम कर रहे हैं, वे मुख्य रूप से एनसीआर में फसल की बुआई और कटाई के लिए आते थे.

इधर किसानों के पास इतना समय नहीं होता कि वे दिनभर भैंसों को चराने में लगे रहें. किसानों ने ही इन मजदूरों को तरकीब दी कि वे उनकी भैंसों को चरा दिया करें और बदले में प्रति भैंस 500 से 700 रुपये महीना ले लिया करें.

यह आइडिया हिट हो गया और अब इलाके के बदौली, गुलावली, कामनगर आदि गांवों में इसी तर्ज पर भैंसो के लिए चरवाहे नियुक्त किए गए. किसान अनंगपाल ने बताया कि एक भैंस औसतन 8 से 10 किलो दूध रोज देती है. इस तरह महीने में 15 हजार रुपये की कमाई हो जाती है. ऐसे में 500 रुपये लेकर कोई अगर भैंसों को चरा देता है तो इससे फायदा तो है ही, साथ ही वक्त की भी बचत होती है.ये चरवाहे गांव में ही किसी के मकान में किराये पर परिवार सहित रहते हैं. सुबह आठ बजे से ये घर-घर जाकर भैंसों को खोल लेते हैं और उन्हें गांव के बाहर खेतों में चराने के लिए ले जाते हैं. भैंसों को चराने के बाद हिंडल या यमुना नदी में नहला देते हैं. उसके बाद शाम पांच बजे वापस भैंसों को गांव ले आते हैं. एक चरवाहे मनोज ने बताया कि उनके गांव के बहुत से लोग अब यही काम कर रहे हैं.

इसमें पैसे भी ठीक मिल जाते हैं. नोएडा, ग्रेटर नोएडा के अलावा हरियाणा के फरीदाबाद इलाके के गांवों में भी उन्हें काम मिल जाता है. इस काम में अधिकतर बिहार और पूर्वी यूपी के लोग शामिल हैं.

IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Ajab Gajab News in Hindi यहां देखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here