हिंदी न्यूज़ – #Research दोस्तों के साथ 200 घंटे बिताएंगे, तभी गहरी होगी दोस्ती/friends needs time, says research

0
3


#Research दोस्तों के साथ 200 घंटे बिताएंगे, तभी गहरी होगी दोस्ती

वक्त बिताने पर बनते हैं दोस्त

News18Hindi

Updated: May 5, 2018, 11:44 AM IST

खाली वक्त में या किसी परेशानी में अपने सबसे अच्छे दोस्त का ख्याल आता है. उसके साथ वक्त बिताना अच्छा लगता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिन दोस्तों के साथ वक्त बिताना चाहते हैं, उनसे घनिष्ठ होने के लिए भी आपको लगभग 200 घंटे का वक्त लगता है. जी हां, हालिया शोध यही बात कहती है.

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कंसास में हुई शोध इसका खुलासा करती है. इसके अनुसार गहरी दोस्ती के लिए केवल मन मिलना जरूरी नहीं, इसके लिए साथ में वक्त बिताना जरूरी है. और वो भी थोड़ा-बहुत नहीं, कम से कम 200 घंटे. शोध के अनुसार दोस्ती कई स्तरों से पहुंचती हुई आगे बढ़ती है. शुरुआत हंसी-मजाक, हल्की-फुल्की बातों से होती है. धीरे-धीरे वक्त के साथ दोस्ती घनिष्ठ हो जाती है. 200 घंटे साथ बिता लेने के बाद दोस्ती ताउम्र कायम रहती है.

शोध में 355 लोग शामिल थे. ये सभी लोग वयस्क थे. इनकी प्रतिक्रिया यही बताती है कि दोस्ती गहरी हो, इसके लिए वक्त बिताना जरूरी है. शोध की पुष्टि के लिए एक और स्टडी की गई, इसमें 112 प्रतिभागी शामिल हुए. ये सभी कॉलेज में पढ़ने वाले थे. वक्त के आधार पर देखा गया कि रिश्ते किस ओर जा रहे हैं.

इन दोनों अध्ययनों के आधार पर सामने आया कि औपचारिक दोस्ती के लिए 40 से 60 घंटे का वक्त लगता है. इससे दोस्तों के बीच आपस में हंसी-मजाक होने लगता है लेकिन यकीन तभी जन्म लेता है, जब लगभग 200 घंटे साथ में बिताए जाएं. इसके बाद की दोस्ती लंबी चलती है और कई बार पूरी जिंदगी भी.ये भी पढ़ें-
#Lauric Acid Rich Foods: ऐसे 10 खाद्य पदार्थ जो शरीर में करते हैं लॉरिक एसिड की कमी को पूरा

रसोई में भी है घुटनों के दर्द का इलाज, बस दर्द में न करें ये 5 काम

आपकी ये गलत आदतें पहुंचा सकती हैं बालों को नुकसान, जानिए कैसे…

News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Lifestyle News in Hindi यहां देखें.

और भी देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here