हिंदी न्यूज़ – Mothers Day Special how kids love has changed

0
2


Mother's Day Special: सोशल साइट्स पर नहीं, गले लगाकर कहिए लव यू मां

तकनीक के इस दौर में आज प्यार और भावनाओं के मायने बदलते जा रहे हैं. लोगों के पास अपनों के लिए भले वक़्त ना हो पर सोशल साइट्स पर बिताने के लिए 24 घंटे भी काम पड़ जाते हैं. ऐसे में मदर्स डे, फादर्स डे जैसे दिनों के मायने अब मोबाइल और कंप्यूटर की स्क्रीन तक सिमट कर रह गए हैं. मां बच्चों के दो प्यारे बोल के लिए तरस कर रह जाती है और बच्चे अपना सारा प्यार सोशल साइट्स पर लुटा जाते हैं.

News18Hindi

Updated: May 12, 2018, 8:59 AM IST

(गौरव)

प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने का स्पर्श से बेहतर कोई तरीका नहीं. वो स्पर्श मां की ऊंगलियों का हमारे सर को सहलाने, आंचल में लपेट कर हर बलाओं से बचाने और गोद में समेट कर दुआओं की बरसात करने का हो तो यकीन मानिए, स्पर्श का वो पल इस दुनिया में जन्नत पाना है. बच्चे हमेशा से इस स्पर्श का सुख मात्र प्राप्त करने के लिए मां के आंचल की तलाश किया करते हैं. तभी तो स्वर्ग के देवता भी ममत्व का सुख पाने के लिए धरती पर अवतरित होने को लालायित रहते थे.

पर वक्त बदला, हालात बदले और साथ ही बदल गये अहसास और भावनाओं को व्यक्त करने के तरीके. मां का आंचल तो ममता के फसल से वैसे ही लहलहाता रहा, पर तकनीकी विकास के दौर में बच्चों की भावनाएं सोशल नेटवर्किग साइट्स के गलियारों में कुंलाचे भरने लगी.

बच्चों की खुशी मां के स्पर्श से बदलकर लाइक्स, कमेंट्स, शेयर और रिट्विट जैसे बटन्स के साथ हिचकोले खाने लगी है. उनके पास अपनों के साथ के लिए भले ही चैन के चार पल न हो, पर सोशल साइट्स के लिए चैबीस घंटे भी कम पड़ने लगे. भावनाओं के मशीनी रुपांतरण ने खुशियों के असल मायने को अपनी जद में समेटना शुरू कर दिया. अब हालात ये हो गये हैं कि सोशल साइट्स पर माता-पिता के लिए लोगों के उड़ेले गये इस प्यार से पूरी दुनिया तो वाकिफ हो जाती है पर उनके माता पिता ही इस प्यार से अछूते रह जाते हैं, क्योंकि वो इस तकनीकी पहुंच से कोसों दूर होते हैं.

कुछ पैरेंट्स पहुंच भी गये तो प्रेम की अभिव्यक्ति का ये हश्र देख बच्चों के साथ को तरसती आंखों से बस बेबसी के आंसू बहाते रह जाते हैं. कल्पना कीजिए कि जो मां-बाप पूरे साल आप पर अपना एक-एक कीमती पल कुर्बान कर देते हैं, क्या बीतती होगी उनपर जो आपके संग प्यार के चार पल गुजारने को तरसते होंगे. सोशल साइट्स पर हैप्पी मदर्स डे या फादर्स डे के प्यार भरे पोस्ट्स से तो पूरा साइट भरा रहता है, पर माता-पिता की बाहें उस प्यार से महरूम रह जाती हैं. सोशल साइट्स पर प्यार जताने वाले शायद ही कुछ ऐसे होंगे जो माता-पिता को गले लगाकर या मां की गोद में सर रखकर इस दिन अपना प्यार प्रदर्शित करते होंगे.

पर जरा सोच कर देखिए माता-पिता की ओर बढ़ा आपका एक कदम उन्हें सालों की वो खुशियां दे सकता है जैसे बरसों तपते रेगिस्तान में किसी ने पानी की बौछार कर दी हो. प्यार से संग गुजारे आपके चंद पल उनके जीवन जीने की ललक को और मजबूत कर देंगे. और यकीन मानिए, सोशल साइट्स पर गुजारे चैबीस घंटे आपको वो आनन्द की अनुभूति नहीं दे पाएंगे जो माता-पिता के गले लग कर गुजारे चैबीस पलों में आपको नसीब हो जाएगी. तो फिर देर किस बात की, इस मदर्स डे सोशल साइट्स की फंतासी वाली गलियों से बाहर निकल मां को प्यार भरी जादू की झप्पी दीजिए और बोल डालिए लव यू मां.

ये भी पढ़ें- अब जाकर समझ आया! ‘अम्मी’ जैसी हैं, वैसी क्यों हैं

News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Lifestyle News in Hindi यहां देखें.

और भी देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here