हिंदी न्यूज़ – सूरज ढलने के बाद यहां इंसानों का आना मना है…

0
6


शाम ढलते ही यहां की सारी वास्तुकलाएं तालों में जकड़ दी जाती हैं. इस किवदंति के साथ कि सूरज ढलने के बाद यहां इंसानों का जाना मना है. कहते हैं कि अंधेरा होने के बाद यहां जो भी रुका, वो पत्थर का बन गया. जी हां, लोगों का मानना है कि यहां मौजूद तमाम पत्थर, कभी इंसान हुआ करते थे. वो इंसान, जिन्होंने बीते समय में कभी मंदिर के कायदे-कानून को चुनौती देने की जुर्रत की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here