हिंदी न्यूज़ – ये वो ज़करबर्ग नहीं, जिससे हमें मोहब्बत थी..

0
4


ये वो ज़करबर्ग नहीं, जिससे हमें मोहब्बत थी..

फेसबुक सीईओ मार्क ज़करबर्ग अमेरिकी कांग्रेस के सामने पेश हुए

News18Hindi

Updated: April 11, 2018, 5:28 PM IST

अमेरिकी कांग्रेस के सामने बुधवार को हुई ज़करबर्ग की पेशी पर वेबसाइट ‘हॉलीवुड रिपोर्टर’ के विचार गौर करने लायक हैं. रिपोर्ट में लिखा गया है कि किस तरह सेनेटर के सामने ज़करबर्ग खुद पर बनी फिल्म ‘सोशल नेटवर्क’ वाले किरदार से कोसों अलग दिखाई दे रहे थे. फिल्म में ज़करबर्ग को जल्दी जल्दी बोलते और कानूनी लड़ाई के दौरान बेहद आक्रामक रवैया अपनाते हुए देखा गया था. वहीं अमेरिकी कांग्रेस के सामने ज़करबर्ग सूट बूट पहनकर, हर जवाब से पहले सेनेटर लगाते हुए देखे गए. साढ़े पांच घंटे चली इस पेशी में लोगों को इंतजार था कि ज़करबर्ग के अंदर सोशल नेटवर्क का हीरो ‘जेसी इज़नबर्ग’ जागे जो सवाल पूछने वालों का गालियों से जवाब दे. लेकिन असलियत में ऐसा नहीं था और हो भी नहीं सकता था. खुद ज़करबर्ग कह चुके हैं कि फिल्म में दिखाया गया काफी कुछ सच से कोसों दूर था.

साल 2010 में फिल्म ‘सोशल नेटवर्क’ आई थी जो कि मार्क ज़करबर्ग के सफर पर आधारित थी. फिल्म में दिखाया गया कि किस तरह ज़करबर्ग ने फेसबुक की शुरूआत हार्वर्ड में अपने होस्टल के कमरे से की थी. बताया गया कि मार्क की दोस्त एरिका अल्ब्राइट ने उन्हें छोड़ दिया और गुस्से में उन्होंने ‘फेसमैश’ बना डाला. इसमें मार्क ने कॉलेज का डाटाबेस चुराकर हार्वर्ड की छात्राओं की तस्वीरें ली और साइट पर आने वालों से छात्राओं की खूबसूरती के आधार पर रेटिंग देने के लिए कहा गया. फिल्म के मुताबिक यूनिवर्सिटी ने मार्क ज़करबर्ग की छह महीने के लिए छुट्टी कर दी.

facebook data leak, mark zuckerberg

2010 में आई फिल्म सोशल नेटवर्क ज़करबर्ग के सफर पर बनी थी

वहीं अच्छी बात यह रही कि ज़करबर्ग का फेसमैश हिट हो गया. इतना हिट कि ज़करबर्ग के पास हार्वर्ड के अमीर घरानों के दो जुड़वा भाई कैमरन और टायलर विंकलवॉस का बुलावा आया. वह चाहते थे कि ज़करबर्ग उनके साथ ‘हार्वर्ड कनेक्शन’ पर काम करे जो खासतौर पर हार्वर्ड के छात्रों के लिए डेटिंग को सुलभ करने के लिए बनाया जाए. हालांकि बाद में ज़करबर्ग ने अपने कुछ और साथियों के साथ मिलकर फेसबुक की शुरूआत की और विंकलवॉस बंधुओं ने उन पर आयडिया चोरी का आरोप लगाया. लेकिन क्योंकि फिल्म में ज़करबर्ग को हीरो बताया गया था इसलिए अपने विरोधियों के सामने दुनिया के सबसे युवा अरबपति ने आत्मविश्वास के साथ करारे जवाब दिए.‘सोशल नेटवर्क’ फिल्म को उस साल ऑस्कर में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का सम्मान हासिल हुआ. इसके अलावा और भी कई अहम अवॉर्ड इस फिल्म की झोली में गए. यह बात अलग है कि खुद मार्क ज़करबर्ग इस फिल्म से बहुत ज्यादा खुश नहीं थे. 2014 में जनता के सवालों का पहली बार सामना करते हुए ज़करबर्ग ने कहा था कि फिल्म में कुछ बातें इतनी मनगढ़ंत थी कि उन्हें बुरा लगा.

facebook data leak, mark zuckerberg

मार्क ज़करबर्ग तगड़े जवाब देते नहीं दिखाई दिए

ज़करबर्ग को फिल्म के यह बताए जाने से आपत्ति थी कि उन्होंने फेसबुक का आविष्कार ब्रेकअप के बाद औरतों को लुभाने के लिए किया था. फेसबुक सीईओ का कहना था कि फिल्म के प्लॉट से उलट वह असल जिंदगी में उस दौरान सिंगल रहे ही नहीं और वह प्रिसिला चैन (जो अब उनकी पत्नी है) को डेट कर रहे थे. हालांकि फिल्म में ज़करबर्ग के दफ्तर से लेकर उनकी शर्ट तक पर काफी शोध किया गया. मसलन ज़करबर्ग की वो ग्रे टीशर्ट जिसे वह हमेशा पहनते हैं. ज़करबर्ग यह बात कई इंटरव्यू में बता चुके हैं कि उनके पास ग्रे रंग की कई टीशर्ट हैं जिन्हें वह बदल बदलकर पहनते हैं. उन्हें लगता है कि ऐसा करके वह बहुत वक्त यह सोचने में से बचा लेते हैं कि आज मैं क्या पहनूं.

वापिस बुधवार की पेशी पर आते हैं जहां ज़करबर्ग एक छोटे बच्चे की तरह डरे और सहमे हुए लग रहे थे. कुछ सवालों में उन्होंने पानी पीना बेहतर समझा. और कुछ सवाल ऐसे थे जहां उनके जवाब पर मिलने वाले जवाब ज्यादा नंबर ले गए. जैसे सेनेटर जॉन कोर्नन को आश्वासन देते हुए ज़करबर्ग ने कहा – यह गलतफहमी है कि हम विज्ञापन के लिए डाटा को बेच देते हैं. हम विज्ञापनदाताओं को डाटा नहीं बेचते. इस पर कॉर्नन ने कहा – हां आप सिर्फ डाटा किराए पर देते हैं.  एक और सेनेटर ब्रायन शाट्ज़ ने इस बात से सहमति दिखाई कि फेसबुक लोगों द्वारा साझा की गई जानकारी का बेजा इस्तेमाल करता है. शाट्ज़ ने कहा ‘ऐसा लगता नहीं कि हम इस डाटा के मालिक हैं, अगर होते तो हमें कट तो मिलता..’

इन सभी सवालों और जवाबों के जवाबों पर मार्क ज़करबर्ग हल्की सी मुस्कुराहट देते या माफी मांगते हुए ही दिखाई दिए. उनके प्रशंसकों को इंतजार था उस लाइन का जो फिल्म में अपने ऊपर लगे आरोपों के बाद ज़करबर्ग कहते हैं. मार्क बने जेसी इज़नबर्ग कहते हैं ‘जहां तक आरोपों की बात है तो मुझे लगता है कि मुझे तो सम्मान मिलना चाहिए.’ इस पर बंद कमरे में बैठे जज, वकील और शिकायतकर्ता चौंक जाते हैं. एक महिला अफसर कहती हैं कि वह समझी नहीं. जिस पर ज़करबर्ग कहते हैं – विच पार्ट (कौन सा हिस्सा)..शायद ज़करबर्ग के मन ने ऐसे ही किसी जवाब को तैयार किया होगा लेकिन फिर उन्हीं के अंदर से आवाज़ आई होगी कि यह फिल्म नहीं है मार्क..!

IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Knowledge News in Hindi यहां देखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here