हिंदी न्यूज़ – बीवी ने बनवाया वीडियो जिसमें पति ने कहा कुछ लोगों से है जान का खतरा | husband accepted threat to be killed in video made by wife

0
1


दिल्ली के पास गाजियाबाद में धीरज लोगों को ब्याज पर पैसे देने का काम करता था. हत्या के प्रयास के एक मामले में जेल में बंद धीरज फरवरी 2016 में जेल से छूटकर आया था. उसके जेल में रहने के कारण उसका धंधा घाटे में जाने लगा था. इधर, जेल काटने के दौरान उसकी बीवी प्रीति ने उसकी पीठ पीछे गुल खिलाए थे. अब धीरज परेशान और मसरूफ था और उधर, प्रीति ऐसी साज़िश में मशगूल थी जो रिश्ते का कत्ल साबित होने वाली थी.

धीरज को अपने धंधे में नुकसान उठाना पड़ रहा था कि कई लेनदार दुश्मन बनने लगे थे. उसने जिनसे पैसे उठाकर धंधे में लगाए थे, वो पैसे डूब रहे थे. इधर, प्रीति के संबंध वरुण के साथ गहरे हो चुके थे. वरुण रिश्ते में धीरज के एक मामा का ही बेटा था जो करीब पांच सालों से धीरज के साथ रहकर उसके काम में हाथ बंटा रहा था. धीरज को भनक तक नहीं थी कि प्रीति और वरुण के बीच कुछ है जबकि प्रीति और वरुण अब एक-दूसरे के बिना रह नहीं सकते थे. लेकिन प्रीति दिखावे के लिए धीरज का खयाल रख रही थी.

कविनगर स्थित धीरज के घर में ही वरुण के साथ स्कीम बना रही प्रीति को अब जयदीप का इस्तेमाल करना था. जयदीप 3 पर्सेंट ब्याज पर जो रुपये धीरज को देता था, धीरज उन्हें 8 पर्सेंट पर उठाता था. पुलिसकर्मी जयदीप के तकरीबन 1 करोड़ रुपये धीरज पर उधार हो चुके थे. प्रीति और वरुण ने जयदीप को लालच दिखाया कि धीरज की प्रॉपर्टी बहुत है और धीरज के बाद यह प्रॉपर्टी बेची जाए तो आधे हिस्से से उसके पैसे वसूल हो सकते हैं और कुछ फायदा भी हो सकता है. जयदीप इस लालच में आ गया था.

एक दिन धीरज ने बातों बातों में प्रीति को बताया कि उसके लेनदार इतने दुश्मन बन गए हैं कि कुछ तो जान से मारने की धमकी तक देने लगे हैं. प्रीति ने ज़ाहिर तो की परेशानी लेकिन यह सुनकर मन ही मन खुश हुई. प्रीति ने जब बोला कि घबराए नहीं, जल्द ही सब ठीक हो जाएगा. तो धीरज ने कहा कि वो घबराने वालों में से नहीं है. इसके बाद अगले दिन उसने वरुण को माजरा बताया तो दोनों ने एक योजना बनाई. प्रीति ने कहा कि धीरज ऐसा क्यों करेगा तो वरुण ने कहा कि कोशिश तो की जाए.गाज़ियाबाद हत्याकांड, उत्तर प्रदेश हत्याकांड, पत्नी ने की पति की हत्या, अवैध संबंधों में हत्या, कत्ल की साज़िश, gaziabad murder case, uttar pradesh murder case, wife killed husband, murder in illicit relationship, murder conspiracy

अगले एक दो दिन में प्रीति ने अपडेट लिया तो धीरज ने बताया कि अभी हालात वैसे ही हैं. अब प्रीति ने कहा कि धीरज एक वीडियो रिकॉर्ड करे जिसमें अपने कर्ज़ और लेनदारों की धमकियों का ज़िक्र करते हुए अपनी जान को खतरा होने की बात कहे. धीरज ने ऐतराज़ करते हुए कहा कि उसे पुलिस वुलिस की ज़रूरत नहीं है. तो प्रीति ने कहा कि पुलिस के पास जब जाना होगा, तब जाएंगे लेकिन एहतियात के तौर वह वीडियो रिकॉर्ड तो करके रखे.

प्रीति के और समझाने के बाद धीरज वीडियो बनाने के लिए राज़ी हो गया और उसने वैसा ही वीडियो रिकॉर्ड किया जैसा प्रीति ने संकेत दिया था. उसने कुछ लोगों के नाम लेकर वीडियो में कह दिया कि उसे इन लोगों से जान का खतरा है. प्रीति के इस वीडियो को रिकॉर्ड करने के बाद अब मर्डर की स्क्रिप्ट लगभग तैयार थी. बस एक्शन कहने की देर थी. इधर, वरुण ने एक सुपारी किलर मोनू को तैयार कर लिया था.

तारीख तय हुई 22 जून. प्रीति का काम था फोन पर वरुण और उसके साथियों को धीरज की लोकेशन अपडेट करना. वरुण का काम था जयदीप और मोनू को लेकर लोकेशन पर पहुंचना और फिर मिलकर धीरज को शूट कर देना. गांव में धीरज का एक फार्म हाउस था जहां उसका आॅफिस भी था और परिवार भी. वह अक्सर वहां जाता था. 22 जून को भी वह वहां पहुंचा तो प्रीति ने अपडेट कर दिया. वरुण और उसके साथी वहां पहुंचने के लिए तैयार ही थे लेकिन प्रीति का फोन आया और पूरे प्लैन पर पानी फिर गया.

प्रीति ने उन्हें वहां आने से मना कर दिया था क्योंकि उस वक्त फार्म हाउस पर मेला जैसा लगा हुआ था. धीरज के अलावा वहां कई लोग मौजूद थे और आ-जा रहे थे. प्रीति ने कहा कि मौका देखकर बताएगी लेकिन पूरे दिन गहमागहमी रही और धीरज को इस भीड़ में मारने का जोखिम नहीं उठाया गया. सबको मलाल था कि अच्छा मौका हाथ से निकल गया.

लेकिन जल्द ही दूसरा मौका मिलने वाला था. 26 जून को फिर धीरज उसी फार्म हाउस पर था और आज वहां लोग भी गिने चुने ही थे. प्रीति ने फोन पर वरुण को अपडेट किया कि आज मौका है. वरुण ने जयदीप और मोनू से संपर्क किया और कुछ ही देर में तीनों बाइक से फार्म हाउस तक पहुंचे. कुछ दूरी पर बाइक खड़ी की और फिर तीनों पैदल ही फार्म हाउस पहुंचे. वहां पहुंचकर उन्होंने आसपास का जायज़ा लिया. जब तसल्ली हो गई कि कोई नहीं देख रहा है तो तीनों ने अपनी बंदूकें लोड कर लीं.

गाज़ियाबाद हत्याकांड, उत्तर प्रदेश हत्याकांड, पत्नी ने की पति की हत्या, अवैध संबंधों में हत्या, कत्ल की साज़िश, gaziabad murder case, uttar pradesh murder case, wife killed husband, murder in illicit relationship, murder conspiracy

इसके बाद वरुण ने एक पत्थर फेंककर फार्म हाउस की खिड़की का एक शीशा तोड़ा. शीशा टूटने की आवाज़ सुनकर धीरज बाहर निकला. धीरज के बाहर निकलते ही वरुण और मोनू ने धीरज पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं. गोलियों की आवाज़ सुनकर धीरज के पिता बाहर आए तो दोनों ने उन पर भी गोलियां दाग दीं और तुरंत मौके से फरार हो गए.

कैसे सामने आया सच

तफ्तीश के दौरान सबसे पहले पुलिस के हाथ वह वीडियो लगा जो धीरज से रिकॉर्ड करवाया गया था. पहले पुलिस इस वीडियो में उलझ गई और वीडियो में जिनके नाम लिये गए थे उनसे पूछताछ करती रही. इसी बीच, एक गवाह से यह सुराग हाथ लगा कि प्रीति और वरुण के बीच कुछ रिश्ता है. पुलिस ने जब वीडियो को ध्यान से देखा तो कुछ और क्लू मिले. इसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर प्रीति से पूछताछ की और जब सख्ती दिखाई तो प्रीति ने पूरी कहानी सुना दी. वरुण को भी गिरफ्तार कर लिया गया. बाइक, हथियार वगैरा भी बरामद किये गए. मोनू और जयदीप उस समय फरार हो गए थे.

ये भी पढ़ेंः
1 जून 2001 : प्रेमिका को फोन करने के बाद राजपरिवार को भून डाला था प्रिंस ने
नेपाल रॉयल पैलेस हत्याकांड : प्रिंस की ज़िद थी मोहब्बत, रानी को थी घराने की चिंता
एक VIDEO, एक गलती और एक विश्वासघात बन गया जानलेवा
40 रुपये भत्ता लेकर 10 मिनट में तिहाड़ से फरार हुआ था शेर सिंह राणा
कौन है फूलन देवी का हत्यारा? Suspense के बीच कहानी में नये मोड़!

Gallery – True Crime Books : अपराधों और मन की परतें खोलती हैं ये किताबें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here