हिंदी न्यूज़ – बदले की आग : कहीं महीनों तो कहीं सालों पलती रही नाराज़गी

0
1


तमिलनाडु : 8 महीने बाद लिया बदला

तिरुपुर शहर में रह रहे कौसल्या और शंकर ने करीब 8 महीने पहले शादी की थी. 19 साल की कौसल्या के परिवार को यह शादी कतई मंज़ूर नहीं थी क्योंकि शंकर दलित समुदाय से था और कौसल्या का परिवार उच्च जाति का था. कौसल्या का परिवार इस शादी से नाराज़ था लेकिन मर्ज़ी के खिलाफ जाकर शादी करने के बाद कौसल्या यह नहीं जानती थी कि इसका अंजाम क्या हो सकता है.

कौसल्या और शंकर को शादी किए तकरीबन 8 महीने हो चुके थे और दोनों रोज़मर्रा की ज़िंदगी जी रहे थे. 13 मार्च 2016 को दोनों शहर के शॉपिंग शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के बाहर से गुज़र रहे थे तभी अचानक पहले से तैयार आधा दर्जन से ज़्यादा लोगों ने दोनों को रोका. फौरन शंकर को पीटना शुरू कर दिया. देखते ही देखते हथियारों से हमला करते हुए उसे लहूलुहान कर दिया. कौसल्या जब शंकर के बचाव के लिए बीच में आई तो उसे भी पीटा गया और हथियारों के हमले से उसे भी घायल कर दिया गया.

अस्पताल पहुंचकर शंकर ने दम तोड़ दिया और कौसल्या को कई दिन लगे गहरी चोटों के इलाज में. कौसल्या को पता चला कि इस हमले की साज़िश उसके पिता चिन्नास्वामी ने रची थी और शंकर की हत्या के लिए लोगों को हायर किया था. दिनदहाड़े हुए इस हमले और शंकर की हत्या के केस में दिसंबर 2017 में चिन्नास्वामी सहित कुल 6 लोगों को कोर्ट ने सज़ा-ए-मौत सुनाई.तेलंगाना : 9 साल बाद भी नहीं बुझी बदले की आग

बिंदु और सतीश ने 2009 में शादी की थी. दोनों ने बिंदु के परिवार की मर्ज़ी के खिलाफ शादी की थी और दोनों ही परिवार को लगातार मनाने की कोशिश कर रहे थे लेकिन परिवार नहीं माना. पिछले कुछ समय से बिंदु और सतीश से बिंदु के परिवार ने एक तरह से रिश्ता ही खत्म कर लिया था और बातचीत बंद थी.

आॅनर किलिंग, दक्षिण भारत में आॅनर किलिंग, तमिलनाडु आॅनर किलिंग, तेलंगाना आॅनर किलिंग, केविन मर्डर केस, honor killing, honor killing in south india, honor killing in tamilnadu, honor killing in telangana, kevin murder case

दो महीने पहले यानी इसी साल अप्रेल में जब बिंदु और सतीश हैदराबाद के दिलसुखनगर की तरफ जा रहे थे तभी रास्ते में दो लोगों ने सतीश को पकड़कर जबरन एक आॅटो में बिठाया और अगवा कर ले गये. दोपहर के एक बजे सतीश को ले जाया गया और साढ़े तीन बजे उसकी लाश गोलनाका के पास पड़ी मिली. ये दो लोग बिंदु के भाई वेंकटेश और अंकल सुरेश थे जिन्होंने सतीश को अगवा किया और फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. बिंदु की शिकायत और इस बयान के आधार पर पुलिस ने शिकायत दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी.

दक्षिण भारत में बढ़ रही ‘आॅनर किलिंग’

पिछले दिनों ही केरल के कोल्लम में केविन और नीनू की लव मैरिज के बाद केविन की हत्या सुर्खियों में रही. इस मामले में नीनू के परिवार ने केविन की हत्या को अंजाम दिया जो दोनों की लव मैरिज के खिलाफ थे. इस केस के बाद यह चर्चा भी शुरू हुई है कि क्या दक्षिण भारत में कथित आॅनर किलिंग की मानसिकता ज़ोर पकड़ रही है. पिछले कुछ समय से इस तरह के कई मामले सुर्खियों में रहे हैं जहां धर्म या जाति के आधार पर हत्याएं हुई हैं.

READ: परिवार के मर्दों ने की थी Love Marriage लेकिन लड़की का प्यार नहीं हुआ बर्दाश्त

केरल में ही इसी साल मार्च में एक युवती अथिरा की हत्या उसी के पिता ने कर दी थी. अथिरा ने एक दलित युवक से शादी की थी जिसके कारण उसके पिता की नाराज़गी इस हद तक पहुंची.

कर्णाटक के मंड्या में इसी साल मार्च में 20 साल की सुष्मिता की हत्या कर दी गई. सुष्मिता अपने बचपन के एक दलित साथी के साथ शादी करना चाहती थी लेकिन इस बात से खफा पिता ने ही सुष्मिता को फांसी पर लटकाकर मार डाला और फिर शव को जला दिया. मार्च में यह खबर सुर्खियों में थी जिसके मुताबिक जलाने के बाद सुष्मिता की राख उसके पिता ने घर के परिसर में ही फेंक दी थी.

आॅनर किलिंग, दक्षिण भारत में आॅनर किलिंग, तमिलनाडु आॅनर किलिंग, तेलंगाना आॅनर किलिंग, केविन मर्डर केस, honor killing, honor killing in south india, honor killing in tamilnadu, honor killing in telangana, kevin murder case

आंध्र प्रदेश के कुरनूल ज़िले में 30 साल की कृषि अधिकारी ललिता को उसके भाई ने ही मार डाला था. ललिता के शव के अवशेष बाद में बरामद हुए थे. इसी साल अप्रेल में हुए इस हत्याकांड की वजह भी यही थी कि ललिता एक युवक से प्रेम करती थी और उससे शादी करना चाहती थी. ललिता के भाई को ऐतराज़ यही था कि वह युवक दूसरी जाति का था.

ये भी पढ़ेंः
Love Story: जब तक मिलने पहुंचती शहज़ादी, मारा जा चुका था अंकित
दुबई में ब्याही इस लड़की को वेश्यावृत्ति में धकेलना चाहता था पति
जिनकी दम पर 11 साल ब्लैकमेलिंग की, वो अश्लील तस्वीरें हैं कहां?
‘बस रिझाओ और खुश करो, खबरदार Customer से प्यार किया तो’

Gallery – झूठ से शुरू हुई दोस्ती ने छीना कामयाब HEROINE बनने का ख़्वाब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here