हिंदी न्यूज़ – जब तक मिलने पहुंचती शहज़ादी, मारा जा चुका था अंकित | love story in Delhi, lover killed on the name of religion

0
2


दिल्ली के ख्याला इलाके में अंकित और शहज़ादी कुछ सालों से एक दूसरे के साथ प्यार के रिश्ते में बंधे हुए थे. अब दोनों शादी करना चाहते थे और एक साथ ज़िंदगी गुज़ारना चाहते थे. लेकिन प्यार पर एक बार फिर धर्म भारी पड़ गया और शहज़ादी के सपनों के शहज़ादे को मुहब्बत की सज़ा देते हुए मौत के घाट उतार दिया गया.

अंकित और शहज़ादी कुछ साल पहले मिले थे जब दोनों पढ़ाई कर रहे थे. धीरे-धीरे मुलाकातेें दोस्ती में बदलीं और फिर प्यार में. दोनों को पता था कि हिंदू और मुसलमान के इस संबंध को स्वीकार करने में समाज आड़े आएगा लेकिन दोनों को उम्मीद थी कि वो सबको मना ही लेंगे. कॉलेज के बाद अंकित ने अपना एक छोटा सा स्टूडियो खोला और फोटोग्राफर के तौर पर काम करने लगा.

इधर, अंकित के पिता दिल के मरीज़ हो गए थे तो अंकित ने अपने पिता से आराम करने को कहा और घर की ज़िम्मेदारी खुद लेने का फैसला किया. इस बीच कुछेक बार अंकित ने शहज़ादी के घर पर अपने प्यार को शादी तक पहुंचाने के बारे में बातचीत करने की कोशिश की लेकिन शहज़ादी के परिवार ने हर बार इनकार कर दिया बल्कि दोनों को फौरन यह रिश्ता खत्म करने की चेतावनी भी दी.

दिल्ली हत्याकांड, हिंदू मुस्लिम प्रेम कहानी, खुलेआम कत्ल, आॅनर किलिंग, हिंदू मुस्लिम विवाद, delhi murder case, hindu muslim love story, love story, hindu muslim tension, Honor killing

अंकित सक्सेना

लेकिन प्यार ने कब ज़माने की परवाह की है, दोनों मिलते रहे, रिश्ता और गहरा होता चला गया. जब भी शहज़ादी के घर में उसकी शादी को लेकर बात चलती तो वह साफ कह देती कि वह अंकित से प्यार करती है और उसी से शादी करना चाहती है. इस पर पहले तो उसे डांटा जाता था लेकिन कुछ ही समय बाद पीटा भी जाने लगा. फिर भी शहज़ादी ने अपनी मुहब्बत नहीं छोड़ी.

पिछले एक साल से घर पर शहज़ादी भूले से भी अंकित का ज़िक्र नहीं करती थी क्योंकि एक साल पहले काफी हंगामा हो चुका था. उसके घर वाले साफ इनकार कर चुके थे. लेकिन ऐसा नहीं था कि वह अंकित से मिलना-जुलना या बातचीत छोड़ चुकी थी. दोनों लगातार संपर्क में थे और किसी तरह शादी की योजना बना रहे थे. इधर अंकित अपने स्टूडियो के नये काम में सैटल होने की कोशिशें भी कर रहा था. अंकित और शहज़ादी कई बार भागकर शादी करने के विकल्प पर विचार कर चुके थे लेकिन अंकित सबकी सहमति से शादी करने के पक्ष में था.

READ: चाहता तो भागकर गर्लफ्रेंड से शादी कर लेता अंकित

इसी साल जनवरी के आखिर में दोनों ने आने वाले किसी दिन मुलाकात की योजना बनाई. अंकित और शहज़ादी के बीच इस बारे में फोन पर मैसेजेस के ज़रिये कुछ बातें हुईं. 31 जनवरी को फोन पर ये मैसेज शहज़ादी के छोटे भाई ने देख लिये और अपने पिता को बता दिया. शहज़ादी के पिता उसकी शादी की प्लैनिंग कर रहे थे और बात शहज़ादी की सगाई तय होने तक पहुंच चुकी थी. ये मैसेज देखकर वह आगबबूला हो गए और उन्होंने इस बारे में शहज़ादी को डांटने—मारने के लिए तलब किया.

दिल्ली हत्याकांड, हिंदू मुस्लिम प्रेम कहानी, खुलेआम कत्ल, आॅनर किलिंग, हिंदू मुस्लिम विवाद, delhi murder case, hindu muslim love story, love story, hindu muslim tension, Honor killing

अंकित की प्रेमिका शहज़ादी उर्फ सलीमा.

बहुत बहस हुई और घर में तनाव का माहौल बन गया. शहज़ादी घर से चली गई लेकिन वह अंकित के पास नहीं बल्कि अपने किसी और करीबी के यहां गई. अगले दिन उसने अंकित से मिलने का मन बनाया. इधर, शहज़ादी के परिवार ने इस मामले को खत्म करने के लिए आखिरी फैसला करने का मन बना लिया.

शहज़ादी के माता-पिता, भाई और कुछ रिश्तेदार इकट्ठे होकर एक योजना बनाकर उस जगह पहुंचे जहां अंकित के होने की खबर लगी. प्लैन के मुताबिक 1 फरवरी 2018 को शहज़ादी की मां हेलमेट पहने हुए स्कूटर से गई और अपने स्कूटर से जान-बूझकर अंकित की कार में टक्कर मार दी. अंकित हेलमेट के कारण महिला को पहचान नहीं सका इसलिए मदद के इरादे से कार से बाहर निकला. अंकित के बाहर निकलते ही सड़क के आसपास मौजूद शहज़ादी के घर वालों ने अंकित को दबोच लिया. उधर, अंकित से मिलने के लिए शहज़ादी भी निकल चुकी थी.

पहले शहज़ादी के तमाम रिश्तेदारों ने अंकित पर शहज़ादी को अगवा करने का आरोप लगाया. फिर मारपीट करते हुए अंकित पर गुस्सा ज़ाहिर किया कि हज़ार बार मना करने पर भी वह शहज़ादी का पीछा नहीं छोड़ रहा. अंकित ने इन तमाम आरोपों से इनकार करते हुए सड़क पर हो रहे हंगामे को बंद करने की सलाह दी और कहा कि पुलिस को बुलाया जाए या पुलिस थाने चला जाए लेकिन उन लोगों ने ऐसा कुछ नहीं किया.

दिल्ली हत्याकांड, हिंदू मुस्लिम प्रेम कहानी, खुलेआम कत्ल, आॅनर किलिंग, हिंदू मुस्लिम विवाद, delhi murder case, hindu muslim love story, love story, hindu muslim tension, Honor killing

अंकित सक्सेना.

बीच सड़क पर सैकड़ों तमाशबीनों की मौजूदगी में तकरीबन आधे घंटे चलती रही इस मारपीट के दौरान अंकित के माता-पिता कई लोगों से मदद की गुहार लगाते रहे लेकिन कोई आगे नहीं आया. फिर शहज़ादी के पिता ने बड़ा सा चाकू निकाला. अंकित को तीन-चार लोगों ने जकड़कर रखा था. अंकित के माता-पिता मदद मांगने के लिए गिड़गिड़ा रहे थे. देखते ही देखते उस चाकू से शहज़ादी के पिता ने अंकित का गला काट दिया.

अंकित खून उगलते हुए गले को पकड़कर इधर उधर बौखलाया लेकिन तब भी कोई मदद नहीं मिली. कोई गाड़ी, कोई आॅटो नहीं रुका. दो तीन मिनट बाद खून से लथपथ अंकित निढाल होकर सड़क पर गिर पड़ा. अंकित को मरा समझकर शहज़ादी के रिश्तेदार वहां से फरार हो गए. किसी तरह अंकित को अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी.

घटना से पहले का सीसीटीवी फुटेज, जिसमें अंकित नज़र आ रहा है

इस कत्लेआम की खबर जैसे ही शहज़ादी को मिली तो उसकी हालत काटो तो खून नहीं सी हो गई. बुरी तरह दहशत में आ चुकी शहज़ादी ने पुलिस को बयान दिया कि इस कत्ल के लिए उसके मां-बाप और रिश्तेदार ज़िम्मेदार हैं और वह उनसे अपनी जान को भी खतरा महसूस कर रही है. पुलिस ने कुछ ही समय में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. घबराई हुई शहज़ादी को नारी निकेतन पहुंचा दिया गया. अंकित के परिवार को सुरक्षा मुहैया कराई गई लेकिन तब जब एक परिवार का सहारा छिन चुका था. एक लड़की के सपने टूट चुके थे और एक प्रेम कहानी के नायक का दुर्दांत अंत हो चुका था.

दिल्ली हत्याकांड, हिंदू मुस्लिम प्रेम कहानी, खुलेआम कत्ल, आॅनर किलिंग, हिंदू मुस्लिम विवाद, delhi murder case, hindu muslim love story, love story, hindu muslim tension, Honor killing

अंकित केस में लोगों ने प्रदर्शन कर की इंसाफ की मांग.

इस मामले में फिलहाल जांच और कार्रवाई चल रही है. पुलिस ने पिछले दिनों ही चार्जशीट पेश की है. इधर, अंकित के पिता ने अंकित की मौत को धार्मिक और राजनीतिक रंग न देने की अपील की. कुछ ही दिन पहले अंकित के पिता अंकित की याद में धार्मिक सद्भाव की मिसाल पेश करते हुए रोज़ा इफ्तार कार्यक्रम का आयोजन कर संदेश दिया कि वह मुहब्बत के पक्ष में हैं, नफरत के नहीं.

ये भी पढ़ेंः
दुबई में ब्याही इस लड़की को वेश्यावृत्ति में धकेलना चाहता था पति
जिनकी दम पर 11 साल ब्लैकमेलिंग की, वो अश्लील तस्वीरें हैं कहां?
‘बस रिझाओ और खुश करो, खबरदार Customer से प्यार किया तो’
परिवार के मर्दों ने की थी Love Marriage लेकिन लड़की का प्यार नहीं हुआ बर्दाश्त
‘आखिरी सांस तक करूंगी उन 6 मौतों का रहस्य सुलझाने की कोशिश’

Gallery – झूठ से शुरू हुई दोस्ती ने छीना कामयाब HEROINE बनने का ख़्वाब



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here