हिंदी न्यूज़ – इस मानसून ‘मेघ’ लाएंगे पीएम मोदी के मुख पर मुस्कान!

0
4


इस मानसून 'मेघ' लाएंगे पीएम मोदी के मुख पर मुस्कान!

पीएम मोदी की फाइल फोटो




Updated: April 16, 2018, 8:19 PM IST

मौसम विभाग (IMD) ने इस साल देश में मानसून सामान्य रहने की संभावना जताई है. IMD के मुताबिक पूरे सीजन में 97% बारिश हो सकती है. हाल ही में स्‍काईमेट ने भी इस साल के लिए अनुमान जारी करते हुए कहा था कि मानसून नॉर्मल रहेगा और पूरे सीजन में 96 से 104 फीसदी बारिश हो सकती है. अच्छे मानसून के अनुमान से आम चुनाव से एक साल पहले अच्छे आर्थिक विकास की संभावना बढ़ गई है.

कौन-कौन सी हैं मानसून की श्रेणियां?
एक सामान्य या औसत मानसून का मतलब है पिछले 50 सालों में जून से सितंबर के बीच हुई औसत बारिश का 96 से 104 प्रतिशत तक बारिश होना. वर्तमान में पिछले 50 सालों का औसत 89 सेंटिमीटर (35 इंच) है.

औसत से 90 प्रतिशत से कम बारिश को सूखे की श्रेणी में गिना जाता है. नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद 2014 और 2015 में सूखे की स्थिति बन गई थी जिसके चलते उनकी सरकार को खासी आलोचना झेलनी पड़ी थी.औसत से 110 प्रतिशत से अधिक बारिश का मतलब होगा अत्यधिक मानसून. यह सूखे की तरह खतरनाक नहीं होगा लेकिन कुछ फसलों के लिए नुकसानदायक जरूर होगा. मानसून की शुरुआत 1 जून के आसपास केरल से होती है और पूरे देश में मानसून जुलाई के मध्य तक आता है.

IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here