समस्तीपुर में क्षतिग्रस्त मस्जिद और मदरसे को ठीक करवाएगी नीतीश सरकार । cm nitish alloted fund for repairing Gudri mosque and Jiaul-Ulum Madrassa

0
6


पटना : रामनवमी जुलूस के दौरान बिहार के समस्तीपुर में हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान क्षतिग्रस्त हुए मस्जिद और मदरसे की मरम्मत करवाने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फंड की मंजूरी दी है. इसके अलावा सरकार ने नवादा और औरंगाबाद में हुई हिंसा से पीड़ित लोगों के मुआवजे के लिए भी राशि आवंटित की है. बिहार सरकार के गृह मंत्रालय ने गुदरी मस्जिद और जिया-उल-उलूम मदरसा को ठीक कराने के लिए बुधवार को दो लाख 13 हजार 700 रुपये की मंजूरी दी है.

रामनवमी जुलूस के दौरान बिहार में कई जगहों पर हिंसा भड़की थी. सरकार ने औरंगाबाद में हुई हिंसा के पीड़ित लोगों के मुआवजे के लिए भी 25 लाख रुपये की राशि आवंटित की है. यहां कई दुकानें जलकर खाक हो गई थी. सरकार ने नवादा हिंसा प्रभावित लोगों के मुआवजे के लिए भी आठ लाख 50 हजार रुपये की मंजूरी दी है.

पढ़ें- रामनवमी पर पश्चिम बंगाल पर बवाल, पंडाल बनवा रहे BJP कार्यकर्ताओं की पिटाई

गौरतलब है कि हनुमान जयंती से ठीक पहले बिहार के नवादा में बंजरंगबली की मूर्ति क्षतिग्रस्त करने के बाद हिंसा भड़क उठी थी. इससे पहले भागलपुर, मुंगेर, समस्तीपुर, नवादा और औरंगाबाद में भी माहौल बिगड़ा था. नीतीश सरकार ने इनमें से तीन जिलों के हिंसा प्रभावित लोगों के लिए मुआवजा जारी किया है, जिसके बाद राजनीतिक विवाद उठ गया है.

सरकार के फैसले के बाद सियासत तेज
बिहार सरकार के इस फैसले के बाद सियासत तेज हो गई है. समस्तीपुर के जिला बीजेपी अध्यक्ष सुमिरन सिंह ने बिहार सरकार के इस फैसले पर सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि हिंसा के दौरान दोनों समुदाय के लोग प्रभावित हुए हैं, लेकिन सिर्फ एक ही समुदाय के लोगों को मुआवजा देना दुर्भाग्यपूर्ण है. गौरतलब है कि गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास ही है.

पढ़ें- औरंगाबाद हिंसा : गिरफ्तार भाजपा कार्यकर्ता पुलिस हिरासत से हुआ फरार

समस्तीपुर को रोसड़ा में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई थी घटना
समस्तीपुर के रोसड़ा कस्बे में मूर्ति विसर्जन कार्यक्रम के दौरान दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी. शहर के फकीराना मोहल्ला में रामनवमी जुलूस गुदरी बाजार की ओर निकला था. इस दौरान कुछ शरारती तत्वों ने खलल डालने की कोशिश की और देखते ही देखते ही वहां सांप्रदायिक तनाव की स्थिति पैदा हो गई. हिंसा में कुछ मस्जिदों और मदरसों को भी निशाना बनाया गया और तोड़फोड़ की गई. 



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here