बीजेपी नेता ने इंस्‍पेक्‍टर को दी थी टोपी उतरवाने की धमकी, एसएसपी ने दिए जांच के आदेश

0
14


मुरादाबाद : प्रदेश में बीजेपी नेताओं के सिर पर सत्‍ता की खुमारी साफ देखी जा सकती है. ताजा मामला मुरादाबाद के डिलारी ब्‍लॉक में सामने आया है. यहां बीजेपी नेता राजपाल सिंह चौहान के बेटे अमित चौहान ने ड्यूटी पर तैनात इंस्‍पेक्‍टर और पुलिस के आला अधिकारियों की टोपी तक उतरवाने की धमकी दे डाली. ड्यूटी पर तैनात इंस्‍पेक्‍टर को बीजेपी नेताओं ने खूब धमकाया. इस दौरान अमित चौहान ने कहा कि यह भाजपा की सरकार है. घटना ब्‍लॉक डिलारी में हो रहे ब्‍लॉक प्रमुख पूनम देवी के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान हुई. इसमें पहले तो बीजेपी नेताओं ने समारोह में ही इंस्‍पेक्‍टर को धमकाया इसके बाद डिलारी थाने पहुंचकर वहां भी हंगामा काटा. इसके बाद अन्‍य नेताओं के समझाने के बाद मामला शांत हुआ. मामला संज्ञान में आने के बाद एसएसपी ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

 

शपथ समारोह में पहुंचे थे भाजपा नेता
मुरादाबाद के ब्‍लॉक डिलारी में पूनम देवी का शपथ ग्रहण समारोह चल रहा था. बीजेपी नेता इसी समारोह में पहुंचे थे. इसी समारोह में भाजपा नेता राजपाल सिंह चौहान के बेटे अमित चौहान भी पहुंचे थे. इस दौरान वह वहां ड्यूटी पर तैनात इंस्‍पेक्‍टर शरद मलिक को देखकर बौखला गए और अपना आपा खो बैठे. उन्‍होंने बीजेपी जिलाध्‍यक्ष की मौजूदगी में इंस्‍पेक्‍टर को जमकर धमकाया.

यह भी पढ़ें : VIDEO: बीजेपी नेता दयाशंकर ने की ट्रक ड्राइवर से मारपीट, पैसे छीनकर भागे

BJP leader amit chauhan gives threat to police
ब्‍लॉक प्रमुख पूनम देवी के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे थे बीजेपी नेता.

1 मिनट में टोपी नीचे करवा दूंगा
अमित चौहान ने इंस्‍पेक्‍टर शरद मलिक को धमकाते हुए कहा कि ‘अगर पुलिस स्‍टेशन में कुछ गलत हो तो मुझे सुबूत दो. एक सेकंड में इनकी और इनके अधिकारियों की टोपी नीचे करवा दूंगा. ये बीजेपी की सरकार है’. इस दौरान बीजेपी नेता उन्‍हें घेरे खड़े रहे. कुछ ही समय में मामला बढ़ गया. मामले को वहां मौजूद अन्‍य बीजेपी नेताओं ने शांत कराया. इसके बाद किसी तरह इंस्‍पेक्‍टर वहां से बचकर थाने पहुंचे. बीजेपी नेता वहां भी पहुंच गए. थाने में घंटों हंगामे के बाद मामला शांत हुआ.

BJP leader amit chauhan gives threat to police
बीजेेेेपी नेता और उनके समर्थकों ने डिलारी थाने में भी हंगामा काटा. 

यह थी नाराजगी की वजह
बीजेपी नेता द्वारा इंस्‍पेक्‍टर और पुलिस अधिकारियों को धमकाने का मामला पुराने विवाद से जुड़ा हुआ है. दरअसल डिलारी के गांव कुआखेड़ा में पूर्व प्रधान और मौजूदा प्रधान के बीच विवाद चल रहा है. दोनों में एक मंदिर को लेकर विवाद है. पूर्व प्रधान वहां जो नया निर्माण वह करना चाहता था वह राजपाल पक्ष का था. वर्तमान प्रधान ने उसे रोकना चाहा. इसके लिए वर्तमान प्रधान ने मौके पर पुलिस बुलाई और पूर्व प्रधान के एक व्यक्ति को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. बीजेपी नेता इसी बात को लेकर नाराज थे.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here