टिकट बंटवारे पर BJP में मचा घमासन, मीडिया के सामने फूट-फूट कर रोए नेता

0
3


बेंगलुरु : कर्नाटक चुनावों में कांग्रेस और बीजेपी अपने-अपने उम्मीदवारों की घोषणा करनी शुरू कर दी है. लेकिन टिकट बंटवारे को लेकर दोनों ही पार्टियों में घमासान मचा हुआ है. पहले कांग्रेस में टिकट वितरण पर हंगामा मचा हुआ था, अब बीजेपी में भी नेता एक-दूसरे पर टिकट में धांधली का आरोप लगा रहे हैं. सोमवार की सुबह कांग्रेसियों ने टिकट बंटवारे को लेकर मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पर गंभीर आरोप लगाए और कई स्थानों पर धरने-प्रदर्शन किए. कई स्थानों पर तो पार्टी कार्यालयों में तोड़फोड़ भी की गई. लेकिन शाम होते-होते कुछ ऐसा ही माहौल बीजेपी में भी दिखाई देने लगा. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने भी टिकट वितरण में धांधली का आरोप लगाते हुए अपना आक्रोश व्यक्त किया. इतना ही नहीं बीजेपी के एक नेता तो टिकट ना मिलने से इतने दुखी हुए कि मीडिया के सामने ही फूट-फूट कर रोने लगे.

मीडिया के सामने रो पड़े बीजेपी नेता
गुलबर्गा में बीजेपी नेता शशिल नमोशी के समर्थको ने टिकट नहीं मिलने पर जमकर हंगामा किया. नमोशी ने कहा कि वह लंबे समय से पार्टी की सेवा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि नेताओं ने उन्हें टिकट दिलाने का आश्वासन दिया था, लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि उन्हें टिकट क्यों नहीं मिला, इसकी वजह वे नहीं जानते, लेकिन टिकट नहीं मिलने से वह बहुत दुखी हैं. मीडिया से बात करते हुए वे इतने भावुक हो गए कि वे मीडिया के सामने ही फूट-फूट कर रोने लगे. इससे पहले उनके समर्थकों ने सड़कों पर उतर कर विरोध-प्रदर्शन किया. 

बता दें कि बीजेपी ने रविवार को 82 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी की थी. इससे पहले 72 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की थी. दूसरी लिस्ट में कुलबर्गा उत्तर से चंद्रकांत बी पाटिल को टिकट दिया है. जबकि दावा शशिल नमोशी को टिकट मिलने का किया जा रहा था. राज्य में बीजेपी अध्यक्ष येदियुरप्पा शिकारीपुरा से चुनाव लड़ेंगे.  

कांग्रेस ने जारी की 218 उम्मीदवारों की लिस्ट
रविवार को कांग्रेस ने 218 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की थी. इस लिस्ट के मुताबिक, मुख्यमंत्री सिद्धारमैया चामुंडेश्वरी से और उनके बेटे यतींद्र वरुणा से चुनाव लड़ने जा रहे हैं. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जी. परमेश्वर को कोराटेगेरे से उम्मीदवार बनाया है. शिकारीपुरा से जीबी मल्थेश को बीजेपी के येदियुरप्पा के सामने उतारा है. उम्मीदवारों की लिस्ट आने के बाद कांग्रेस में भी घमासान मच गया. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कई स्थानों पर धरने-प्रदर्शन किए.

Karnataka

रास्ता जाम कर अपना आक्रोश व्यक्त किया और कई शहरों में कांग्रेस कार्यालयों में तोड़फोड़ की भी खबरें आईं. नाराज नेताओं ने आरोप लगाया कि सिद्धारमैया ने कांग्रेस को अपने घर की पार्टी बना दिया है. अपने परिवार और रिश्तेदारों को टिकट दिए गए हैं, जबकि जमीनी कार्यकर्ता को नजरअंदाज किया गया है. नाराज कांग्रेसियों ने मांड्या, मंगलुरु, नेलामगाला समेत कई जगहों पर पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ की. इतना ही नहीं कुछ नेताओं ने अपने समर्थकों के साथ मुख्यमंत्री आवास के बाहर भी प्रदर्शन किया और कई स्थानों पर यातायात जाम किया.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here